भारत के जवाब के बाद ब्रिटेन ने बदले नियम; रद्द ‘यह’ शर्त

0
24
भारत के जवाब के बाद ब्रिटेन ने बदले नियम; रद्द 'यह' शर्त
भारत के जवाब के बाद ब्रिटेन ने बदले नियम; रद्द 'यह' शर्त

Latest News: भारत के जवाब के बाद, यूके ने अब भारतीय यात्रियों के लिए टीकाकरण की आवश्यकता को समाप्त करने की घोषणा की है। यूके ने गुरुवार को कहा कि वह 11 अक्टूबर से यूके पहुंचने वाले भारतीय यात्रियों को कोविडशील्ड या उनकी सरकार द्वारा अनुमोदित किसी अन्य टीके की दोनों खुराक के साथ क्वारंटाइन नहीं करेगा। इससे पहले भारत ने कहा था कि वह हमारी जैसी नीति अपनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस बीच, ब्रिटेन ने पहले कोविन टीकाकरण प्रमाणपत्र को मान्यता देने से इनकार कर दिया था।

अंग्रेजों के फैसले के बाद भारत ने तरह तरह से जवाब दिया था। भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को अब दस दिन के जबरन अलगाव में रहना होगा। इसके अलावा RTPCR टेस्ट रिपोर्ट जमा करनी होगी। केंद्र सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले को 4 अक्टूबर से लागू कर दिया गया है।

इसके बाद भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने एक वीडियो संदेश जारी किया। 11 अक्टूबर से यूके जाने वाले भारतीय यात्रियों को कोविशील्ड या यूके द्वारा स्वीकृत किसी अन्य वैक्सीन को क्वारंटाइन नहीं करना पड़ेगा। हालांकि, वे भारत के स्वदेशी कोरोना वैक्सीन प्रमाणन के बारे में चुप रहे हैं।

भारत का उपयुक्त उत्तर

ब्रिटिश नागरिकों को यात्रा से 72 घंटे पहले कोरोना परीक्षण (RTPCR) से गुजरने की रिपोर्ट जमा करनी होगी। भारत ने हवाईअड्डे पर पहुंचने के तुरंत बाद और आगमन के आठ दिन बाद फिर से कोरोना की जांच अनिवार्य करने का फैसला किया है। ब्रिटेन ने विदेश से आने वाले नागरिकों के लिए राज्याभिषेक के कड़े नियम लागू किए थे। ब्रिटेन का फैसला विवादास्पद था। भारत और ब्रिटेन के बीच टीकाकरण प्रमाणपत्र को लेकर भी विवाद हुआ था। इसके जवाब में भारत आने वाले ब्रिटिश नागरिकों के लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: आर्यन खान की गिरफ्तारी शाहरुख खान के लिए बड़ा झटका

यूके ने शुरू में ‘कोविशील्ड’ वैक्सीन को खारिज कर दिया था, लेकिन इसकी मंजूरी के बावजूद, यहां से यूके जाने वाले लोगों को आरटीपीसीआर परीक्षण और दस दिनों के अलगाव के लिए मजबूर होना पड़ा। इसके कारण ब्रिटेन में विकसित एक वैक्सीन को अस्वीकार कर दिया गया। भारत ने तब जवाबी कार्रवाई की चेतावनी दी थी। तदनुसार, भारत ने अब ब्रिटिश नागरिकों के लिए नियम लागू कर दिए हैं।

(भारत के जवाब के बाद ब्रिटेन ने बदले नियम; रद्द ‘यह’ शर्त)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here